Welcome to BSP Uttar Pradesh Unit

About The BSP

Acclaimed as the 'Best Secular Party' and the 'Boldest Socialist Party', the Bahujan Samaj Party is, as its name implies, the National Party of the common folk, who love peace, want progress and dream of a casteless and egalitarian India.

The Bahujan Samaj Party is the National Party that strives for the creation of a casteless India by uplifting the marginalized and downtrodden sections of the society and thus realizing the dream of Dr. B.R. Ambedkar, the architect of the Indian Constritution, who several times voiced his dream of seeing the dalits (the lower castes) in the throne of power in Delhi.

It was founded in 1984 by Kanshi Ram, the charismatic leader of the oppressed and downtrodden masses belonging to the backward classes, untouchables and minority communities, who had always been marginalized by the conservative caste Hindus. Kanshi Ram was inspired by the Buddha who despised caste distinctions and Dr. B.R. Ambedkar, the Messiah of Marginalised and the Architect of the Indian Constitution. Know more...

  • दलितों पर अत्याचार और हरियाणा सरकार की गुंडागर्दी
    अच्छे दिन आने की उम्मीदों के बीच दिल्ली के जंतर-मंतर पर महीनों से अपनी इज्जत-आबरू, न्याय और अस्तित्व के लिए धरने पर बैठे कुछ लोग अपने सामने अंधेरे के सिवाय कुछ और नहीं देख पा रहे हैं। 23 मार्च 2014 को जब देश शहीद भगत सिंह की कुर्बानी को याद कर रहा था, हरियाणा के ...
  • बदला लो और बदल दो
    दो बहनो की गेंग रेप के बाद हत्या का मामला अभी चर्चा मे है की मुलायम के आजमगढ मे एक और 17 वर्षीय लड़की का गेंग रेप किया गया बह भी एक जाती विशेष के द्वारा| उधर हरियाणा के चार लड़कियॉ के साथ गेंग रेप की शिकार लड़कयो के परिवार बाले 2 महीने से दिल्ली ...
  • तेरा आरक्षण, आरक्षण है और मेरा आरक्षण, आरक्षण नही
    आज कल कई लोग आरक्षण विरोध का खोखला ढिंडोरा पीट रहे है| जब मैने इनमे से कुझ लोगो ने जानना चाहा की क्या बह गाँधी विरोधी है तो आसमान ताकने लगे | क्यो की आरक्षण तो गाँधी की एक चाल थी जो बाबा साहब ने भारी दबाब मे आकर बनाई थी | जब बाबा साहब ...
  • बाबा साहेब डॉ० भीमराव अम्बेडकर की 123 वीं वर्षगाँठ पर
    दलित वर्ग की राजनैतिक चेतना और परिपक्वता से मुख्यधारा के समाज को सीखने की जरुरत है ! 14 अप्रैल का दिन इस तथ्य की गहराई को समझने के लिये सबसे प्रासंगिक दिन है। यह शीर्षक थोड़ा सा अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकता है लेकिन यदि पूर्वाग्रहों से मुक्त होकर इस पक्ष पर थोड़ा सा गंभीर चिन्तन करें ...
  • नरसंहार के 17 साल बाद कितने बदले हैं दलितों के हालात
    सुवा मेहता की अब काफी उम्र हो चली है लेकिन लगभग 17 साल पहले वो अपने गांव में हुए उस नरसंहार को बिल्कुल नहीं भूले हैं। जिसमें 58 दलितों का रात के अंधेरे में कत्ल कर दिया गया था। वो बिहार के अरवल जिले के लक्ष्मणपुर बाथे गांव में रहते हैं। वो कहते हैं, “मार ...

BSP Govt. to build five thermal power plants in UP

BSP Government has decided to build five thermal power plants with a total generation capacity of 9,940 MW. more...

We can also make cartoon

Bharat Ratna Baba Saheb